आरबीआई (RBI) ने लिया एक और बड़ा फैसला। पेटीएम पेमेंट्स के बाद चलाया visa–mastercard पर डंडा।

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने पेटीएम पेमेंट्स के बाद अब visa–mastercard की और रुख कर लिया है। पेटीएम पेमेट्स पर रोक लगाने के बाद अब आरबीआई ने visa – mastercard को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। RBI ने visa – mastercard के खिलाफ कार्रवाई की है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने अब स्मॉल एंटरप्राइजेज की ओर से कार्ड बेस्ड कमर्शियल पेमेंट पर रोक लगाने का फैसला सुनाया है। जिसके बाद दोनों भुगतान मर्चेंट यानी visa और mastercard के मर्चेंट केंद्रीय बैंक के चक्कर काट रहे हैं और अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं।

दरसल दोस्तों 8 फरवरी को भारतीय रिज़र्व बैंक ने ये फैसला लिया है। आरबीआई ने visa और mastercard कंपनियों द्वारा किए जाने वाले बिजनेस पेमेंट्स को सस्पेंड करने का आदेश दिया है। लेकिन अभी तक आरबीआई (RBI) ने इस फैसले के पीछे का ऐसा कोई खास कारण बताया नहीं है। लेकिन सूत्रों के अनुसार खबर ये आई है कि आरबीआई ने ये कदम इसलिए उठाया है कि उन्हें छोटे कारोबारियों के द्वारा किए जाने वाले लेन देन की चिंता है। आरबीआई का कहना है कि वे रेगूलेटर केवाईसी के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। और इसके साथ ही आरबीआई (RBI) को बड़े ट्रांजैक्शन में मनी लॉन्ड्रिंग और फ्रॉड होने का भी शक है।

दरअसल दोस्तों , बड़े कॉरपोरेट इस तरह के कार्ड जारी करते हैं जिनका इस्तेमाल बड़े कॉरपोरेट छोटी कंपनियों को भुगतान के लिए करते हैं। अब आरबीआई के सामने ऐसे कई मामले आए हैं जिनमे इन कार्ड के ज़रिए कमर्शियल भुगतान करते हुए बड़े बड़े कॉरपोरेट ने ऐसी छोटी कंपनियों को भुगतान किया है जिनकी केवाईसी नहीं थी। आरबीआई के इस फैसले के बाद अब visa और mastercard ke अधिकारी आरबीआई के बड़े बड़े अधिकारियों से मुलाकात कर रहे हैं। हाल ही में बुधवार को हुई मुलाकात में दोनों कंपनी के पेमेंट मर्चेंट्स अब यह जानना चाहते हैं कि अब उन्हें आगे किस तरह से बिजनेस मॉडल को फॉलो करना है।

यह भी पढ़ें  शर्त में 16 लाख हारा ये आदमी, शर्त हारने के बाद हुआ आपे से बाहर। गुस्से में किया बड़ा नुकसान।

आरबीआई (RBI) ने क्यों लगाई रोक आखिर क्या है कारण?

तो दोस्तों आरबीआई का कहना है कि छोटे कारोबारी जो लेन देन करते हैं इन कार्ड्स से वे रेग्यूलेटर केवाईसी का पालन नहीं कर रहे हैं जिसको लेकर वे चिंतित हैं। एक फिंटेक स्टार्टअप के फाउंडर ने बातचीत के दौरान बताया कि इस सेक्टर में काम करने वाले फिनटेक को कमर्शियल कार्ड के द्वारा किए जाने वाले बिजनेस पेमेंट को आरबीआई (RBI) ने अपने अगले आदेश तक इसे रोकने का आदेश दिया है। लेकिन इस फैसले के बाद किराए और ट्यूशन के पेमेंट्स पर असर पड़ सकता है। दरअसल, क्रेड, पेटीएम जैसे ऐप ग्राहकों को कार्ड के ज़रिए अपने किरायों का भुगतान करने की सुविधा उपलब्ध कराते हैं। आमतौर पर कारोबारी नेट बैंकिंग या आरबीआई की तरफ से बल्क ट्रांसफर जैसे आरटीजीसी (RTGC) के जरिए भुगतान करते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top