UPI scam का अगला शिकार आप भी हो सकते हैं, भूल कर भी ना करें ये गलती।

*जैसा कि हम सब जानते हैं कि हमारा देश कितनी तेज़ाई से डिजीटल तकनीक की ओर बड़ रहा है। दुनिया जितनी तेज़ी से डिजीटल हो रही है उतनी ही तेज़ाई से ऑनलाइन फ्रॉड भी बड़ रहे हैं। अब हमारा इंडिया भी पूरी तरह से डिजिटल हो गया है। ऑनलाइन पेमेंट से लोगों को बहुत आसानी हुई है लेकिन ऑनलाइन पेमेंट जितना अच्छा है लोगों के लिए उतना ही इससे नुक्सान भी हो सकता है अगर आप यह गलती करते हैं तो। आइए बताते हैं कि आपको किन गलतियों से बचना है और क्या करना है।

जैसा कि आप जानते हैं, लोगों के साथ कई तरह के फ्रॉड होते हैं। ये फ्रॉड की कहानी बहुत समय से चलती आ रही है लेकिन डीजल इंडिया होने के बाद फ्रॉड करना और भी आसान हो गया है और लोग फ्रॉडस के ट्रैप में भी आसानी से फस जा रहे हैं। कुछ समय से बैंकिंग ठगी के सबसे ज़्यादा मामले सामने आ रहे हैं। हैकर्स ने ऑनलाइन फ्रॉड के ऐसे आसान तरीके निकाले हैं जिससे लोग आसानी से उनके ट्रैप में फस जा रहे हैं। हैकर्स ने ऐसे तरीके निकाले है फ्रॉड के कि हजारों लोग इसके झांसे में बहुत जल्द ही फस जा रहे हैं। आइए आपको बताते हैं कि यूपीआई (UPI) फ्रॉड केसे होता है।

तो दोस्तों हैकर्स के पास आसानी से आपका मोबाइल नंबर पहुंच जाता है क्योंकि डिजिटल का दौर है और मोबाइल नंबर हर चीज में जरूरी हो गया है तो हैकर्स अपने सिस्टम के द्वारा लोगों का मोबाइल नंबर आसानी से ट्रैक कर लेते हैं। ऑनलाइन ठगी में हैकर्स आपके फोन में आए OTP से आसानी से ठगी कर लेते हैं। पहल ये आपके फोन में पैसे भेजते हैं और लोगो से कहते हैं कि गलती से गलत नंबर पर पैसे पहुंच गए है और अपनी बातों में लोगों को ऐसे फसाते हैं कि लोग उनकी बातों में आ कर पैसे वापस करने के लिए उनके फोन में जो ओटीपी या लिंक आती है वह उन हैकर्स को शेयर कर देते हैं और उसके द्वारा आपके बैंक में जितना भी बैलेंस होता है वो खाली हो जाता है।

यह भी पढ़ें  Realme 12 pro series होने वाली है जल्द ही लॉन्च। इस दिन होगी भारत में लॉन्च।

तो दोस्तों पिछले एक साल में ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले 1 लाख पर पहुंच गए हैं। इस 1 साल में ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले 95,000 से भी ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। ऑनलाइन बेकिंग ठगी का सबसे मुख्य कारण पर्सनल डाटा शेयर करना है। वित्त मंत्रालय द्वारा शेयर किए गए डाटा के अनुसार सबसे ज्यादा पेटीएम , फोन पे , गूगल पे, और अन्य ऑनलाइन पेमेंट ऐप के माध्यम से मामले दर्ज हुए हैं। 95,000 से भी ज़्यादा लोग UPI scam में फसे हैं।

UPI scam से कैसे बचें?

तो दोस्तों अगर आपके पास कभी किसी ने धोखे से पैसे भेज दिए हो और बाद में वो आपसे बोले की धोखे से पैसे ट्रांसफर हुए हैं और आपके पास एक OTP या लिंक आई है उस पर क्लिक करें तो ऐसा कभी मत करना आप क्योंकि अगर आप उस लिंक पर क्लिक करते हैं या अपने पास आए OTP को शेयर कर देते हैं तो आपका सारा बैंक बैलेंस खाली हो जायेगा और आपको वो वापस भी नही मिलेगा।
और आप अपना ऑनलाइन पेमेंट ऐप को हमेशा अपडेट रखें और ये कन्फर्म करें कि आपका पासवर्ड किसी के पास ना हो। अपने आप पर सस्ट्रॉन्ग पासवर्ड डालें और अपना UPI पिन भी स्ट्रॉन्ग डालें। ऐसा करने से आप ऑनलाइन स्कैम से बच सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top