लोकसभा चुनाव के लिए बनने वाला INDIA गठबंधन तारीखों से पहले कैसे बिखर गया? आखिर क्या वजह है गठबंधन से एग्जिट करने की?

लोकसभा चुनाव की तारीख जैसे जैसे करीब आती जा रही है वैसे ही सत्ता में हर दिन कुछ नया सुनने को मिल रहा है। अब जबकि लोकसभा चुनाव में कुछ ज़्यादा वक्त नहीं रह गया है और ऐसे में सुनने में ये आए कि नीतीश और आरएलडी ने गठबंधन तोड़ दिया है तो विषय चर्चा का तो होगा ही लेकिन अब देखना ये है कि इस गठबंधन को तोड़ने के बाद नीतीश सरकार अगला कदम क्या उठाएगी। इंडिया अलायंस जहां ताश के पत्तों की तरह बिखरता जा रहा है वहीं, AAP और TMC ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। अब देखना ये है कि लोकसभा चुनाव आने तक और क्या क्या देखने को मिलेगा।

तो दोस्तों जैसा कि हम आप जानते हैं कि लोकसभा चुनाव में लगभग 1 आद महीने का ही समय रह गया है। और सारी ही राजनीतिक पार्टियां तैयारी में जुटी हुई हैं। और अब तो चुनाव से पहले ही BJP (बीजेपी) का मुकाबला करने के लिए बनाया गया इंडियन अलायंस (इंडियन नेशनल डेमोक्रेटिक इंक्लूसिव अलायंस) बिखरता हुआ नज़र आ रहा है। हम आपको बता दें कि INDIA गठबंधन में शामिल नेशनल कॉन्फ्रेंस ने भी अब अपना रास्ता अलग कर लिया है। हालांकि, इस वक्त तो ये सब बनने का वक्त था एकजुट होने का वक्त होता है लेकिन हम तो यहां सब बिखरता हुआ देख रहे हैं जो कि बिल्कुल चर्चा का विषय तो है ही लेकिन बीजेपी के लिए ये सबसे अच्छी खबर है।

हम आपको बता दें कि हाल ही में हुए नैशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने लोकसभा चुनाव में अकेले लड़ने का दावा किया था। फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि नैशनल कॉन्फ्रेंस जम्मू कश्मीर में अपने दम पर अकेले चुनाव लडेगी। अगर पिछले 7 महीने की बात की जाए तो यह ‘इंडिया’ गठबंधन को लगने वाला पांचवा झटका है। सबसे पहले तो बिहार राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार INDIA गठबंधन को छोड़ के वापस एनडीए में शामिल हो गए थे। दरअसल दोस्तों नीतीश कुमार ने INDIA गठबंधन से एग्जिट इसलिए लिया था क्योंकि उन्हें गठबंधन में संयोजक का पद नहीं मिला था जिसकी वजह से उन्होंने नाखुश होकर गठबंधन से इस्तीफा ले लिया था।

यह भी पढ़ें  बॉलीवुड की एक और एक्ट्रेस बनने जा रही है किसी की दुल्हनिया। अपने लॉन्ग टाइम बॉयफ्रेंड जल्द ही करने वाली हैं शादी

तो दोस्तों हम आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले एक ट्विस्ट और आया है। हाल ही में राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के अध्यक्ष जयंत चौधरी भी NDA में शामिल हो गए हैं। जयंत चौधरी ने भी INDIA गठबंधन से एग्जिट कर लिया है। जयंत चौधरी के एग्जिट के भी कई कारण हैं। रिपोर्ट के अनुसार, जयंत चौधरी सीट शेयरिंग को लेकर गठबंधन से खुश नहीं थे। और ख़ासकर के वो मुजफ्फरनगर सीट को लेकर नाखुश थे। और अब बात आती है पश्चिम बंगाल की TMC लीडर ममता बनर्जी की। हम आपको बता दें कि ममता बनर्जी ने पहले ही ये क्लियर कर दिया था कि वह सूबे से अकेले चुनाव लड़ेंगी।

रिपोर्ट के अनुसार, ममता बनर्जी ने यह दावा किया है कि INDIA अलायंस ने उनके सभी प्रस्तावों को ठुकरा दिया isliye यही वजह है कि ममता बनर्जी ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है। तो अब बात करते हैं दिल्ली वासियों के दिलों में बसने वाले AAP के लीडर केजरीवाल की, आम आदमी पार्टी (AAP) ने पंजाब में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। और जानने वाली बात ये है कि आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस को दिल्ली में सिर्फ एक सीट ऑफर की है। आम आदमी पार्टी के सांसद संदीप पाठक ने कहा है कि कांग्रेस के साथ उनकी 2 बार मीटिंग हुई है लेकिन निष्कर्ष अभी तक कुछ नहीं निकला। इसके बाद पिछले 1 महीने से कोई भी मीटिंग नही हुई है और कांग्रेस के किसी भी नेता को कोई आइडिया नहीं है कि अगली मीटिंग कब होगी।

यह भी पढ़ें  BJP बंगाल लिस्ट आई सामने, भोजपुरी स्टार पवन सिंह लड़ेंगे बंगाल सीट से चुनाव बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा से होगा सामना।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top