कीवी एक ऐसा फल है जिसकी खेती करके किसान हो सकते हैं मालामाल, मार्केट में कीवी की रहती है काफी डिमांड और यह हाइ रेट्स पर होता है सेल:

कीवी जो एक फल होता है यह बहुत ही अच्छा पर माना जाता है और ज्यादा से ज्यादा लोग इस फल को पसंद करते हैं यह सिर्फ खाने के काम ही नहीं बल्कि कई बीमारियों का इलाज भी होता है। इसकी बाजार में बहुत डिमांड होती है और यह मार्केट में अच्छे दाम में बिकता है। किसान इसकी खेती करके काफी अच्छा पैसा कमा सकते हैं और उसकी खेती करने से मालामाल हो सकते हैं। लेकिन किसानों को इसकी खेती करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। आइये इस के बारे में जानते हैं।

कीवी एक इन्फ्लेमेटरी फ्रूट होता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसके अलावा कीवी में कैल्शियम,फास्फोरस, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन बी, विटामिन सी, फाइबर, पोटेशियम, बीटा, कैरोटीन, कॉपर, जिंक, राइबोफ्लेविन आदि तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। डॉक्टर ज्यादा से ज्यादा कीवी को खाने की सलाह देते हैं और इसलिए इसकी डिमांड मार्केट में ज्यादा होती है और रेट्स भी अच्छे रहते हैं।

कीवी के मार्केट में दाम अच्छे होने पर और डिमांड ज्यादा होने पर किसान इसकी खेती कर सकते हैं उनको इससे बहुत अच्छा फायदा होगा और वह इसकी खेती करके मालामाल हो सकते हैं। लेकिन उनको खेती करने के लिए कुछ बातें का बहुत ध्यान रखना होगा अगर वह कीवी की खेती करना चाहते हैं तो पहले तो जरूरी है की मिट्टी कैसी होनी चाहिए?

कीवी की खेती के लिए बालुई रेतीली दोमट मिट्टी अच्छी होती है और किसानों को कीवी भी खेती करते टाइम जल को बाहर निकालने की अच्छी सुविधा करनी चाहिए। जिससे पेड़ों पर जल्दी फल आने शुरू हो जाएं। किसान बाग में कीवी का पौधा लगाने के लिए ग्राफ्टिंग मेथड का यूज कर सकते हैं। कीवी की खेती ज्यादातर ठंडी जलवायु वाले इलाके में की जाती है। इसकी खेती करने के लिए मिट्टी का पीएच मान लगभग 6.0 से 7.0 के बीच होना चाहिए।

यह भी पढ़ें  इतिहास में पहली बार कोई बना था इतना अमीर वो भी सिर्फ 2 मिनट के लिए।

भारत में कीवी की कई किस्में पाई जाती हैं

अगर एक्सपर्ट की माने तो कीवी की खेती करने के लिए तापमान लगभग 14 डिग्री से 28 डिग्री तक का तापमान अच्छा रहता है रिपोर्ट के मुताबिक किसान इसकी खेती सबसे ज्यादा जनवरी और फरवरी के महीने में कर सकते हैं। इसके कुछ ही वक्त बाद इसमें फूल आने शुरू हो जाते हैं और महीने की लास्ट तक फल भी आने लगते हैं। भारत में इसकी कई किस्में पाई जाती है जैसे – एलिसन, मोंटी, ब्रूनो, हैवर्ड आदि। यह काफी अच्छा फल है और काफी अच्छे दामों में भी सेल होता है।

कुछ बातों का रखें खास ख्याल

1- कीवी की खेती किसान बीज, कलम, ऊतक, संवर्धन तकनीक के द्वारा भी कर सकते हैं।
2- इसके रोपण के लिए जो गड्ढा तैयार करते हैं उसकी गहराई 1.5 मीटर तथा चौड़ाई 1 मीटर होनी चाहिए।
3- गड्ढे को अच्छे से तैयार करने के बाद उसमें जैविक उर्वरक डालें साथ ही सड़े हुए गोबर की खाद भी डालें।
4- रोपण होते ही पौधों को समय-समय पर पानी दें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top