45000 करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया। क्या एक बार फिर खुद को कर पाएगी बेहतर साबित इक्विटी और डेट के जरिए जुटा पाएगी फंड:

भारत की तीसरी बड़ी टेलीकॉम कंपनी 45 हजार करोड रुपए के कर्ज में डूबी। टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया घाटे में और गिरती जा रही है जिसके कारण उस पर बैंक का लगभग 45 हजार करोड़ का कर्जा हो चुका है जिसको मध्य नजर रखते हुए बोर्ड ने इस कंपनी को 20 हजार करोड़ के फंड जुटाने की मंजूरी दे दी है। कंपनी के अनुसार 2 अप्रैल 2024 को शेरहोल्डर की बैठक की जाएगी जिसमें तीसरे महीने तक फंड जुटाने का काम पूरा होगा।

अप्रैल माह में मिलेगा कंपनी को 20000 करोड़ फंड जुटाने के लिए अप्रूवल

27 फरवरी 2024 को हुई कंपनी के लिए बैठक जिसमें बोर्ड ने इक्विटी के जरिए 20 हजार करोड़ के फंड जुटाने की घोषणा करते हुए मंजूरी दे दी है। इतना ही नहीं मैनेजमेंट को इंटरमीडियेरीज, बैंकर्स, वकीलों को नियुक्त करने के लिए भी हां कर दी है। इसी के संबंध में 24 अप्रैल 2024 को शेरहोल्डर्स के साथ मीटिंग की जाएगी और तब वहां कंपनी को फंड जुटाने के लिए कंपनी को अप्रूवल दिया जाएगा अप्रूवल मिलने के बाद तिमाही में ही कंपनी फंड जुटाने के लिए अपना काम शुरू कर देगी। यह सब स्टॉक एक्सचेंज के पास दर्ज किए गए रेगुलेटरी फाइलिंग में सूचित किया गया है।

कंपनि की फंड्स को लेकर चर्चा है जारी

रेगुलेटरी फाइल के अनुसार कंपनी अपने 20 हजार करोड़ के फंड इक्विटी के साथ जुटाएगी कंपनी पर लगभग बैंक का ₹45 हजार करोड़ का कर्जा है जिसके लिए उसे डेट और डेट के साथ फंड जुटाने होंगे तब कंपनि लगभग 45 हजार करोड़ तक के फंड जुटा पाएगी। इसमें प्रमोटर्स भी हिस्सा लेंगे वहीं कंपनि अपने लैंडर्स के साथ भी फंड को लेकर चर्चा कर रही है।

यह भी पढ़ें  सेल्फ स्टडी करके बनीं यह लड़की आईएएस (IAS) ऑफिसर। अपने भाई से इंस्पायर हुईं थीं।

वोडाफोन आइडिया कंपनी खुद को बेहतर लेवल पर लाने के लिए और भी ज्यादा बेहतर सर्विस देने की पूरी कोशिश करेगी। जहां 4G कवरेज को बढ़ाने के लिए 5G रोल आउट पर प्लानिंग करके उस पर इन्वेस्टमेंट किया जाएगा। जिससे कंपनी एक लेवल में आ सके और खुद को बेहतर साबित कर सके।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top