हाफ मैराथन में ही पड़ा हार्ट अटैक फिर भी रेस को किया पूरा

इंग्लैंड का यह शख्स बना मैराथन का हिस्सा, हाफ मैराथन में ही पड़ा हार्ट अटैक फिर भी रेस को किया पूरा

मैराथन में भाग लेने वाले इस शख्स की हालत ठीक न होते हुए भी बना रेस का हिस्सा हाफ मैराथन पूरा भी ना हो पाया आया उसको हार्ट अटैक लेकिन फिर भी उस शख्स रेस को पूरा किया आईये जानते हैं इस व्यक्ति के बारे में-

हम बात कर रहे हैं डिक चेउंग नाम के शख्स की जिसने अपनी तबीयत को पीछे छोड़कर रेस की पूरी यह शख्स इंग्लैंड का है। जिसकी उम्र 48 वर्ष है इस शख्स की तबीयत पहले से ही ठीक नहीं थी रेस के शुरू होने के बाद रेस के आधे पड़ाव में ही दिल का दौरा पड़ा था लेकिन इसने फिर भी हिम्मत नहीं हारी और रेस में पार्टिसिपेट किया।

मैराथन को लेकर जहां सभी लोग बहुत खुश थे इसी के बीच इंग्लैंड के इस व्यक्ति ने उत्साह दिखाते हुए उस रेस का बना हिस्सा। अपनी तबीयत के बारे में जानते हुए भी इस शख्स हिम्मत दिखाते हुए रेस में भाग लिया फिर क्या था हाफ मैराथन भी पूरा न कर पाया और उसे दिल दौरा पड़ गया। इतने पर भी उसने हिम्मत नहीं हारी और रेस में अपना 💯 देते हुए रेस को पूरा किया। उन्होंने इस रेस को एक घंटा 35 मिनट और 26 सेकंड में पूरा किया।

इस मैराथन रेस से पहले भी पिछले साल अक्टूबर महीने में ‘ग्रेट ईस्टर्न रन’ के दौरान भी उनकी हालत हुई थी खराब वहां उन्हें चक्कर आने की वजह से वह गिर पड़े और बेहोश हो गए और 20 सेकंड तक बेहोशी की हालत में डले रहे इतनी हालत खराब हो गई थी कि उन्हें होश भी ना रहा।

यह भी पढ़ें  Tata Group Success Story: जेब में सिर्फ 21000 लेकर रखी थी टाटा ग्रुप की नींव। जीत के जज़्बे ने बना डाला अरबों का साम्राज्य।

मीडिया के सामने बताते हुए डिक चेउंग कहते हैं अगर मैं आज आप लोगों के बीच में हूं तो यह हाफ मैराथन की वजह से और उन्होंने यह भी बताया की रेस को कंप्लीट करने के बाद पता चला कि उन्हें हार्ट अटैक आया था।

जहां पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया इलेक्ट्रोकार्डियोलॉजी द्वारा पता चला कि उन्हें हार्ट अटैक आया है डॉक्टर ने कहा उनकी धमनियों की गति धीमी हो गई थी जिसके कारण से इन्हें अटैक आ गया और यह बेहोश हो गए और इसी कारण से डॉक्टरों ने उन्हें रेस्ट करने की सलाह दी।

डिक चेउंग पिछले टाइम को याद करते हुए बताया कि मेरी पहले से ही हालत सही नहीं थी वह पहले से ही अस्वस्थ थे जब उन्हें डॉक्टर द्वारा अपनी इस हालात का पता लगा कि उन्हें हार्ट अटैक आया है वह सुनकर हैरान हो गए तथा कोविड – 19 के टाइम पर कोविड भी हो गया था लेकिन कुछ टाइम बाद वह ठीक हो गए डॉक्टरों द्वारा सर्जरी की बात हुई थी जिसे उन्होंने 22 नवंबर को सर्जरी कराई वह सर्जरी सफल हुई एक 1 दिसंबर को वह डिस्चार्ज होकर घर वापस हो गए और उन्हें लोगों को प्रेरणा देते हुए यही कहा कि यह जीवन बहुत अनमोल होता है इसे व्यर्थ नहीं करना चाहिए। जो जिंदगी हमें मिली है उसे खुशी के साथ अच्छे से जियो और हमें हमेशा अच्छे काम करते रहना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top