इन पांच बातों को फॉलो करने से पड़ सकता है दोस्ती और रिश्ते पर असर लोग करने लगते हैं इग्नौर, अच्छे खासे दोस्त भी तोड़ देते हैं दोस्ती:

जब आपको लोग इग्नोर करते हैं तो आपको बहुत बुरा लगता है लेकिन इग्नोर करने के कुछ कारण भी हो सकते हैं। हम आपको कुछ ऐसी ही बातों से परिचित कराने जा रहे हैं जो आपके व्यवहार और स्वभाव से रिलेटेड हैं।

जब आपको लोग इग्नोर करते हैं तो बहुत बुरा लगता है हम सभी लोग हर एक रिश्ते में प्यार , सम्मान , और देखभाल चाहते हैं जब आपको लोग इग्नोर करने लगते हैं यह निम्नलिखित कारण भी हो सकते हैं यह आपकी दिखावट,आर्थिक स्थिति, स्वास्थ्य से लेकर स्वभाव तक बहुत से कारण हो सकते हैं आज हम उन पांच बातों को बताने जा रहे हैं के किस कारण से लोग हमें इग्नोर करते हैं और हमसे दोस्ती नहीं करना चाहते हैं।

सेलफिशनेस होना

जैसे कि बहुत से लोग सिर्फ अपने ही बारे में सोचते रहते हैं लेकिन कभी-कभी दूसरों के बारे में सोचना भी चाहिए यदि हम अपने बारे में सोचेंगे और दूसरों के पैसों पर अपना खर्चा निकलेंगे तो यह गलत होगा हमें दूसरों की मदद करना चाहिए ऐसा करने से दोस्ती भी जल्दी होती है इंसान आपकी और आकर्षित भी होता है।

जरूरत पड़ने पर लिए गए पैसे टाइम पर वापस न करना

पैसा एक ऐसा कारण है जो बड़े से बड़े रिश्तो में दरार डाल देता है चाहे रिश्ता वो दोस्ती का हो, रिश्तेदारी का हो या फिर कोई भी पैसों के वजह से बुराई हो ही जाती है। जैसा की आवश्यकता पड़ने पर कोई पैसे मांगता है परंतु वापस देने में कई नाटक बताता है ऐसी ही कारण से लोग दोस्ती करने से बचते हैं और आपको नजर अंदाज करने लगते हैं जैसा की आवश्यकता पड़ने पर मदद करना बहुत अच्छी बात है। अगर आप उधार लिए हुए पैसे समय पर वापस कर देते हैं तो आप को अगर दूसरी बार पैसों की जरूरत पड़ती है तो आसानी से फिर मिल भी सकते हैं और आपकी दोस्ती पर भी कोई असर नहीं पड़ता क्योंकि इंसान देख लेता है कि इस इंसान को जरूरत पड़ी थी और उसने टाइम पर मुझे वापस भी कर दिए थे लेकिन लोग टाइम पर पैसे वापस न करने और देने के टाइम पर बहाने बनाना, नाटक करने लगते हैं इसी वजह से लोग इग्नोर भी करते हैं।

यह भी पढ़ें  भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली नहीं बन सके 🆚 इंग्लैंड मैच का हिस्सा वही उनके फैंस ने कर दी उनके न्यू बोर्न बेबी की डेब्यू करने की डिमांड

बोली में मिठास ना होना

जो लोग बहुत कठोर बोलते हैं उनसे बहुत कम लोग ही दोस्ती कर पाते हैं तेज बोलने वाले लोगों से लोग दोस्ती करने में बात करने में हिचकिचाते है। कठोर बोलने का मतलब यह नहीं की गाली देना बल्कि यह है कि इंसान अपने आप को कूल दिखाने के लिए सामने वाले इंसान की हंसी उड़ाना या अपमानित करना ऐसे लोगों से इंसान बहुत कम ही दोस्ती करते हैं अगर दोस्ती भी हो जाए तो बहुत कम ही समय तक रह पाती है और और कुछ बातें जो लोग बार-बार रिपीट करते हैं और एक ही टॉपिक पर बोलते रहते हैं जिससे इंसान बोर हो जाता है इसलिए वह उन्हें इग्नोर करने लगता हैं।

पॉजिटिव थिंकिंग ना होना

हमें हमेशा यह याद रखनी चाहिए कि हमें अपने मन में कभी भी कोई भी नेगेटिविटी नहीं रखनी चाहिए हमेशा अपनी थिंकिंग पॉजिटिव रखना चाहिए हमेशा सकारात्मक सोचते रहना चाहिए। अगर हम कोई भी नेगेटिविटी रखते हैं तो उसका असर हमारे रिश्तो व दोस्ती पर भी पड़ता है। कोई भी व्यक्ति ऐसे शख्स से दोस्ती नहीं करना चाहेगा जो हमेशा नेगेटिव बातें करता हो या वह नेगेटिव रहता हो आजकल की ज्यादातर लोग नकारात्मक ही रहते हैं जिससे उनका चेहरा उदास रहता है तो ऐसी इंसान से लोग दूर ही रहते हैं और उन्हें इग्नोर करते हैं और ना ही उनसे कोई दोस्ती करते हैं।

फ्रेंडशिप में अननेसेसरी एक्सपेक्टेशन रखना

आजकल इंटरनेट इतना ज्यादा चल रहा है कि इंसानों की इंटरनेट पर ही दोस्ती हो जाती हैं चाहे लड़का हो या लड़की। लेकिन शुरुआत में ही लोग एक दूसरे से अननेसेसरी एक्सपेक्टेशन रखने लगते हैं जिसका असर हुई नई दोस्ती पर पड़ता है और वह दोस्ती ज्यादा लंबे समय तक टिक नहीं पाती जिसके कारण उनकी दोस्ती टूट जाती है।

यह भी पढ़ें  जानिए स्वयं प्लस प्लेटफार्म के बारे में जो की स्टूडेंट एंड वर्कर्स के लिए है बेस्ट अपॉर्चुनिटी जिससे बेटर एज्युकेशन, कोर्सेज के साथ स्किल डेवलपमेंट और रोजगार के मिलेंगे अवसर:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top